Emergency Provisions(Article 352 to 360)[आपातकालीन प्रावधान (अनुच्छेद 352 से 360)]

Let's read about emergency provision[आपातकालीन प्रावधान के बारे में पढ़ते हैं]

Introduction[परिचय]

  • Articles 352-360 of the Indian Constitution deals with Emergency provisions.[भारतीय संविधान के अनुच्छेद ३५२-३६० आपातकालीन प्रावधानों से संबंधित हैं।]
  • These provisions enable the Central government to meet any abnormal situation effectively. The rationality behind the incorporation is to safeguard the sovereignty, unity, integrity, and security of the country, the democratic political system, and the Constitution.[ये प्रावधान केंद्र सरकार को किसी भी असामान्य स्थिति को प्रभावी ढंग से पूरा करने में सक्षम बनाते हैं। निगमन के पीछे तर्कसंगतता देश की संप्रभुता, एकता, अखंडता और सुरक्षा, लोकतांत्रिक राजनीतिक व्यवस्था और संविधान की रक्षा करना है।]
class="elementor-section elementor-top-section elementor-element elementor-element-b424d39 elementor-section-boxed elementor-section-height-default elementor-section-height-default" data-id="b424d39" data-element_type="section">
emergency
Article 352-360 from the constitution of india[भारत के संविधान से अनुच्छेद 352-360]